PM Vishwakarma Yojana 2024: ऑनलाइन आवेदन कैसे करे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हाल ही में शुरू की गई पीएम विश्वकर्मा योजना का उद्देश्य देश के कारीगरों और दस्तकारों को समर्थन प्रदान करना है। इस योजना के अंतर्गत पात्र व्यक्तियों को प्रशिक्षण, आर्थिक सहायता और टूल किट खरीदने के लिए वित्तीय मदद दी जाती है। अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो नीचे दी गई जानकारी और आवेदन प्रक्रिया आपके लिए महत्वपूर्ण होगी।

योजना का परिचय

पीएम विश्वकर्मा योजना का उद्देश्य कारीगरों और दस्तकारों को आर्थिक सहायता और प्रशिक्षण प्रदान करना है ताकि वे अपने व्यवसाय को बेहतर तरीके से संचालित कर सकें। इस योजना के तहत, उन्हें न केवल कौशल विकास का अवसर मिलेगा, बल्कि उन्हें टूल किट और बिना गारंटी के लोन जैसी सुविधाएं भी मिलेंगी। इस योजना का मुख्य लक्ष्य है कि कारीगरों और दस्तकारों को उनके काम में आत्मनिर्भर बनाया जा सके और उन्हें बेहतर रोजगार के अवसर प्रदान किए जा सकें।

योजना के लाभ

1. प्रशिक्षण: इस योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करने वाले व्यक्तियों को 15 दिनों का प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिसमें उन्हें प्रतिदिन ₹500 प्रदान किए जाएंगे। यह प्रशिक्षण उनके कौशल को सुधारने और उन्हें आधुनिक तकनीकों से परिचित कराने में मदद करेगा।

2. फ्री सर्टिफिकेट: प्रशिक्षण पूरा करने के बाद सभी प्रतिभागियों को फ्री में सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा, जो उनके कौशल को प्रमाणित करेगा और उन्हें रोजगार के नए अवसर प्रदान करेगा।

3. टूल किट: प्रशिक्षण के बाद, प्रतिभागियों को ₹15,000 तक की टूल किट खरीदने के लिए वित्तीय सहायता दी जाएगी। यह टूल किट उनके काम को और अधिक प्रभावी बनाने में मदद करेगी।

4. लोन सुविधा: योजना के तहत ₹1 लाख तक का लोन बिना गारंटी के दिया जाएगा, जिसे समय पर चुकाने पर ₹2 लाख तक बढ़ाया जा सकता है। इस लोन पर केवल 5% की ब्याज दर लागू होगी। यह लोन उनके व्यवसाय को बढ़ाने और उन्हें आर्थिक स्थिरता प्रदान करने में मदद करेगा।

5. अन्य सुविधाएँ: सरकार की तरफ से सब्सिडी और अन्य कई लाभ भी दिए जाएंगे, जो कारीगरों और दस्तकारों को वित्तीय स्थिरता प्रदान करेंगे और उन्हें उनके व्यवसाय में मदद करेंगे।

यह भी पढ़े : July महीने की आठ प्रमुख सरकारी योजनाएं: बच्चों से बुजुर्गों तक लाभ

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

स्टेप 1: पोर्टल पर जाएं

लिंक का उपयोग करें: सबसे पहले, इस लिंक पर क्लिक करे | https://pmvishwakarma.gov.in/ ,जिससे आप पीएम विश्वकर्मा योजना के पोर्टल पर पहुंच जाएंगे। यहां आपको योजना के बारे में विस्तृत जानकारी मिलेगी।

स्कीम बेनिफिट्स देखें: पोर्टल पर पहुंचने के बाद, सबसे पहले ‘स्कीम बेनिफिट्स’ वाले ऑप्शन पर क्लिक करें और योजना के लाभों को विस्तार से पढ़ें। इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि इस योजना के तहत आपको कौन-कौन से फायदे मिल सकते हैं।

स्टेप 2: रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

लॉगिन करें: पोर्टल पर लॉगिन ऑप्शन पर क्लिक करें और ‘सीएससी लॉगिन’ वाले ऑप्शन को चुनें। इससे आपको पोर्टल पर लॉगिन करने की सुविधा मिलेगी।

आईडी और पासवर्ड डालें: अपनी सीएससी आईडी और पासवर्ड डालें और लॉगिन करें। यदि आपके पास सीएससी आईडी नहीं है, तो आपको पहले इसे प्राप्त करना होगा।

स्टेप 3: फॉर्म भरें

व्यक्तिगत जानकारी: फॉर्म में अपने व्यक्तिगत विवरण जैसे नाम, पिता या पति का नाम, जन्म तिथि, वैवाहिक स्थिति, और श्रेणी भरें। यह जानकारी सही और सटीक होनी चाहिए ताकि आपके आवेदन में कोई त्रुटि न हो।

संपर्क विवरण: मोबाइल नंबर, आधार नंबर, और अन्य संपर्क विवरण भरें। यदि आपके पास पैन कार्ड है, तो उसे भी दर्ज करें। यह जानकारी आपके संपर्क में आने के लिए आवश्यक है।

पता विवरण: अपना आधार एड्रेस या वर्तमान पता भरें। यदि ग्राम पंचायत के अंतर्गत आते हैं, तो ग्राम पंचायत और ब्लॉक का नाम भी दर्ज करें। इससे आपके स्थान का सही-सही पता चलेगा।

स्टेप 4: प्रोफेशनल जानकारी

प्रोफेशनल ट्रेड: अपने व्यवसाय और उसकी उप-श्रेणी का चयन करें। यह जानकारी आपके व्यवसाय के प्रकार को दर्शाएगी।

बिजनेस एड्रेस: अपने व्यवसाय का पता भरें और सभी जानकारी को सेव करें। यह जानकारी आपके व्यवसाय के स्थान का पता लगाने में मदद करेगी।

स्टेप 5: बैंक विवरण

बैंक डिटेल्स: अपने बैंक का नाम, आईएफएससी कोड, ब्रांच का नाम, और अकाउंट नंबर भरें। यह जानकारी आपके बैंक खाते से जुड़ी होनी चाहिए।

लोन जानकारी: यदि आपको लोन की आवश्यकता है, तो लोन का अमाउंट भरें और प्रेफर्ड बैंक चुनें। इससे आपको वित्तीय सहायता प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

स्टेप 6: अन्य जानकारी

डिजिटल इंसेंटिव: यदि आप डिजिटल पेमेंट करते हैं, तो अपनी यूपीआई आईडी और मोबाइल नंबर दर्ज करें। इससे आपको डिजिटल भुगतान के लाभ मिल सकते हैं।

ट्रेनिंग और टूल किट: ट्रेनिंग का चयन करें और टूल किट के लिए आवश्यक विकल्प चुनें। इससे आपको प्रशिक्षण और टूल किट की सुविधा मिलेगी।

स्टेप 7: फॉर्म सबमिट करें

डिक्लेरेशन: डिक्लेरेशन बॉक्स पर टिक करें और सबमिट ऑप्शन पर क्लिक करें। इससे आपका आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

एप्लीकेशन नंबर: सबमिट करने के बाद आपको एक एप्लीकेशन नंबर मिलेगा, जिसे सुरक्षित रखें। यह नंबर आपके आवेदन की स्थिति जानने में मदद करेगा।

कॉल और ट्रेनिंग जानकारी

आपके द्वारा फॉर्म सबमिट करने के कुछ दिनों बाद, आपको योजना के अंतर्गत कॉल किया जाएगा और ट्रेनिंग की तारीख और स्थान की जानकारी दी जाएगी। आपके बैंक अकाउंट में टूल किट के लिए ₹15,000 और लोन की राशि भी क्रेडिट कर दी जाएगी।

पीएम विश्वकर्मा योजना कारीगरों और दस्तकारों के लिए एक उत्कृष्ट अवसर है। घर बैठे ही इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करें और सरकारी सहायता का लाभ उठाएं। अगर आपका कोई सवाल या क्वेश्चन है, तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

इस जानकारी के माध्यम से आप आसानी से पीएम विश्वकर्मा योजना का लाभ उठा सकते हैं और अपने व्यवसाय को नई ऊँचाइयों पर ले जा सकते हैं। योजना का सही उपयोग करके आप अपने कौशल को और भी बेहतर बना सकते हैं और अपने व्यवसाय को सफल बना सकते हैं।

योजना के अंतर्गत पात्रता

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए कुछ पात्रता मापदंड भी निर्धारित किए गए हैं। जिन व्यक्तियों के पास कोई व्यवसाय है और वे इसे और भी बेहतर बनाना चाहते हैं, वे इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा, जो लोग पहले से ही किसी अन्य सरकारी योजना के तहत लाभान्वित हो चुके हैं, वे भी इस योजना के लिए पात्र हो सकते हैं।

आवेदन की जाँच

आवेदन करने के बाद, आपका आवेदन सरकार द्वारा सत्यापित किया जाएगा। सत्यापन प्रक्रिया के दौरान, आपकी दी गई जानकारी की पुष्टि की जाएगी और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि आप इस योजना के लिए पात्र हैं या नहीं। सत्यापन प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही आपको योजना के तहत लाभ प्राप्त होंगे।

योजना का उद्देश्य

पीएम विश्वकर्मा योजना का मुख्य उद्देश्य देश के कारीगरों और दस्तकारों को आर्थिक सहायता और प्रशिक्षण प्रदान करना है ताकि वे अपने व्यवसाय को सफलतापूर्वक चला सकें। इस योजना के माध्यम से, सरकार का उद्देश्य है कि कारीगर और दस्तकार आत्मनिर्भर बनें और उन्हें रोजगार के बेहतर अवसर मिलें।

योजना का प्रभाव

इस योजना के प्रभाव से देश के कारीगरों और दस्तकारों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और उन्हें बेहतर रोजगार के अवसर मिलेंगे। इसके साथ ही, उनका कौशल भी सुधरेगा और वे अपने व्यवसाय को और भी बेहतर तरीके से चला सकेंगे। इस योजना का लाभ उठाकर वे अपने जीवन को बेहतर बना सकते हैं और अपने परिवार को भी आर्थिक स्थिरता प्रदान कर सकते हैं।

योजना के तहत सहायता

पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता कारीगरों और दस्तकारों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे उन्हें अपने व्यवसाय को बढ़ाने में मदद मिलेगी और वे आर्थिक रूप से सशक्त बन सकेंगे। इस योजना के माध्यम से सरकार का उद्देश्य है कि कारीगर और दस्तकार आत्मनिर्भर बनें और उन्हें रोजगार के बेहतर अवसर मिलें।

योजना के अंतर्गत आने वाले पेशे

इस योजना के तहत कई प्रकार के पेशे आते हैं, जैसे बढ़ई, लोहार, दर्जी, बुनकर, कुम्हार, सुनार, मोची, आदि। यह योजना इन सभी पेशों को आर्थिक सहायता और प्रशिक्षण प्रदान करने का उद्देश्य रखती है। इन पेशों के माध्यम से व्यक्ति अपने व्यवसाय को बढ़ा सकते हैं और अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सकते हैं।

योजना के लाभार्थी

इस योजना के लाभार्थी वे सभी कारीगर और दस्तकार हैं जो अपने व्यवसाय को और भी बेहतर बनाना चाहते हैं। यह योजना उनके लिए एक महत्वपूर्ण कदम है जिससे वे अपने व्यवसाय को सफलतापूर्वक चला सकते हैं और आर्थिक स्थिरता प्राप्त कर सकते हैं।

योजना का भविष्य

पीएम विश्वकर्मा योजना का भविष्य उज्जवल है क्योंकि यह योजना कारीगरों और दस्तकारों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे वे अपने व्यवसाय को बढ़ा सकते हैं और आर्थिक रूप से सशक्त बन सकते हैं। यह योजना उन्हें आत्मनिर्भर बनाने में मदद करेगी और उन्हें रोजगार के बेहतर अवसर प्रदान करेगी।

योजना के तहत मिलने वाली सहायता

पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत मिलने वाली सहायता कारीगरों और दस्तकारों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इससे उन्हें अपने व्यवसाय को बढ़ाने में मदद मिलेगी और वे आर्थिक रूप से सशक्त बन सकेंगे। इस योजना के माध्यम से, सरकार का उद्देश्य है कि कारीगर और दस्तकार आत्मनिर्भर बनें और उन्हें रोजगार के बेहतर अवसर मिलें।

योजना के अंतर्गत मिलने वाली सब्सिडी

इस योजना के तहत मिलने वाली सब्सिडी कारीगरों और दस्तकारों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे उन्हें अपने व्यवसाय को बढ़ाने में मदद मिलेगी और वे आर्थिक रूप से सशक्त बन सकेंगे। इस योजना के माध्यम से, सरकार का उद्देश्य है कि कारीगर और दस्तकार आत्मनिर्भर बनें और उन्हें रोजगार के बेहतर अवसर मिलें।

योजना के तहत मिलने वाला लोन

पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत मिलने वाला लोन कारीगरों और दस्तकारों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे उन्हें अपने व्यवसाय को बढ़ाने में मदद मिलेगी और वे आर्थिक रूप से सशक्त बन सकेंगे। इस योजना के माध्यम से, सरकार का उद्देश्य है कि कारीगर और दस्तकार आत्मनिर्भर बनें और उन्हें रोजगार के बेहतर अवसर मिलें।

योजना का सारांश

पीएम विश्वकर्मा योजना कारीगरों और दस्तकारों के लिए एक उत्कृष्ट अवसर है। घर बैठे ही इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करें और सरकारी सहायता का लाभ उठाएं। इस योजना का उद्देश्य कारीगरों और दस्तकारों को आर्थिक सहायता और प्रशिक्षण प्रदान करना है ताकि वे अपने व्यवसाय को सफलतापूर्वक चला सकें। योजना का सही उपयोग करके आप अपने कौशल को और भी बेहतर बना सकते हैं और अपने व्यवसाय को सफल बना सकते हैं।

अगर आपका कोई सवाल या क्वेश्चन है, तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं। इस जानकारी के माध्यम से आप आसानी से पीएम विश्वकर्मा योजना का लाभ उठा सकते हैं और अपने व्यवसाय को नई ऊँचाइयों पर ले जा सकते हैं। योजना का सही उपयोग करके आप अपने कौशल को और भी बेहतर बना सकते हैं और अपने व्यवसाय को सफल बना सकते हैं।

Sign up to receive awesome crypto news in your inbox, every week.